राप्तीसागर ट्रेन किडनैप बच्चे को बचाने के लिए 260 किलोमीटर नॉन स्टॉप चली

 




एक 3 साल के बच्चे के अपहरण के साथ एक युवक यूपी के ललितपुर स्टेशन से राप्तीसागर एक्सप्रेस में चढ़ा है, सतर्क होने के साथ रेल कर्मियों ने सुनिश्चित किया कि ट्रेन बिना रुके चलती रहे। भोपाल पहुंचने पर, लगभग दो घंटे के बाद, अपहरणकर्ता को पकड़ लिया गया और बच्चे को बचाया गया।

रेलवे ने एक जबरदस्त काम किया यह जबरदस्त काम यह है 3 साल की बच्ची का अपरहण करने वाले अपहरणकर्ता को बड़ी सूझबूझ से धर दबोचा

दरअसल यह घटना ललितपुर रेलवे स्टेशन की है ललितपुर में 3 साल की एक मासूम बच्ची लापता हो गई बच्ची की खोजबीन करते हुए उसके परिवार वाले ललितपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे परिजनों की शिकायत पर तुरंत कार्यवाही करते हुए आरपीएफ ने रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगालना शुरू कर दिया सीसीटीवी कैमरे में एक युवक 3 साल की बच्ची को गोद में लिए हुए राप्तीसागर ट्रेन पर सवार होता हुआ दिखा आरपीएफ को यह कंफर्म हो गया कि अपहरणकर्ता राप्तीसागर ट्रेन पर सवार हुआ 

रेलवे के मुताबिक 25 अक्टूबर को शाम 7:00 बजे झांसी स्टेशन रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट के उप निरीक्षक रविंद्र सिंह राजावत को ललितपुर जीआरपी ने सूचना दी कि ललितपुर शहर से एक दुबला पतला आदमी 3 वर्षीय बच्ची का अपहरण करके गाड़ी संख्या 02511 राप्तीसागर एक्सप्रेस से भोपाल की तरफ जा रहा है जीआरपी ने यह भी सूचना दी की बच्ची ने गुलाबी रंग की ड्रेस पहनी है जबकि किडनैपर ने क्रीम कलर की शर्ट काले रंग का लोअर पहना हुआ है और नंगे पैर है

उधर ललितपुर रेल सुरक्षा बल पोस्ट पर सीसीटीवी फुटेज में यह बात साफ हो चुकी थी कि किडनैपर राप्तीसागर ट्रेन में सवार हो चुका है

हालांकि राप्तीसागर ट्रेन का ललितपुर स्टेशन के बाद भोपाल जंक्शन ही अगला स्टॉपेज था लेकिन आरपीएफ ने अपने स्टाफ को अलर्ट कर दिया रेलवे को इसकी सूचना दी गई और राप्तीसागर ट्रेन को हर जगह ग्रीन सिगनल मिलता रहा ट्रेन की रफ्तार लगातार मेंटेन रखी गई 260 किलोमीटर तक ट्रेन लगातार दौड़ती रही इस दौरान ट्रेन में मौजूद रेलवे के स्टाफ के जरिए अपहरणकर्ता की लोकेशन का पूरा हिसाब किताब आरपीएफ अपने पास रख रही थी लेकिन ट्रेन में मौजूद रेलवे के स्टाफ को अलर्ट किया गया था कि किसी भी तरह से अपहरणकर्ता को भनक न लगे

आरपीएफ ने इस मामले में पूरी सूझबूझ के साथ काम किया ललितपुर से झांसी में आरपीएफ के इंस्पेक्टर ने ऑपरेटिंग कंट्रोल भोपाल को पूरी जानकारी दी उन्होंने राप्तीसागर एक्सप्रेस को ललितपुर से लेकर भोपाल के बीच किसी भी स्टेशन पर ना रोकने का अनुरोध किया इसके बाद ऑपरेटिंग कंट्रोल रूम में भोपाल तक राप्तीसागर ट्रेन को नॉन स्टॉप क्लेरेंस दिया ट्रेन सरपट दौड़ती रही कहीं पर भी अपहरणकर्ता को उतरने का मौका नहीं मिला



इसके बाद तकरीबन 20.43 बजे जब गाड़ी भोपाल पहुँची, भोपाल जंक्शन पर किडनैपर को दबोच ने के लिए आरपीएफ और जीआरपी ने पूरी तैयारी कर ली जैसे ही स्टेशन पर ट्रेन पहुंची पूरी प्लानिंग के साथ किडनैपर को ट्रेन की एक बोगी से धर दबोचा गया पुलिस ने बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया और किडनैपर को गिरफ्तार कर लिया मासूम बच्ची को उसके परिजनों को सौंप दिया गया

आपसी तालमेल और सीसीटीवी की मदद से भारतीय रेलवे के कर्मचारियों ने नॉन स्टॉप ट्रेन चलाकर किडनैपर को दबोच कर एक अनूठी मिसाल कायम की है

Post a Comment

0 Comments